उन्होंने कहा, "विदेशी बाजारों में अपने निर्यात की रक्षा में जीसीसी देशों के बीच वैश्विक व्यापार सहयोग पर कोविड-19 महामारी के पतन के परिणामस्वरूप होने वाली अपरंपरागत स्थितियों और चुनौतियों के मद्देनजर नए व्यापार स्थलों की खोज और प्रतिस्पर्धा में सुधार के साथ राष्ट्रीय उत्पादों की रक्षा करना भी महत्वपूर्ण हो गया है।"

भारत अंतर्राष्‍ट्रीय कौशल केंद्र (आईआईएससी)

भारत सरकार युवा भारतीय श्रम बल का जनांकिकीय विभाजन करके आने वाले वर्षों में श्रम बल की वैश्विक कमी को पूरा करने की इच्‍छुक है। इस उद्देश्‍य को प्राप्‍त करने के लिए कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्रालय ने ‘कुशल भारत’ अभियान के अंतर्गत भारत अंतर्राष्‍ट्रीय कौशल केंद्र (आईआईएससी) स्‍थापित किया है ताकि अंतर्राष्‍ट्रीय मानकों के अनुरूप कौशल प्रशिक्षण और प्रमाणन उपलब्‍ध कराया जा सके। प्रायोगिक चरण में आईआईएससी की स्थापना राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी) के माध्यम से की गई थी और इनका कार्यान्वयन जॉब हेतु पूरे विश्व भर में जाने के लिए तैयार युवाओं के लिए प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) तथा प्रवासी कौशल विकास योजना (पीकेवीवाई) द्वारा अंतर्राष्ट्रीय व्यापार परामर्शदाता कार्यान्वयन किया जा रहा है। आईआईएससी कार्यक्रम के भाग के तौर पर अंतर्राष्ट्रीय मानकों पर कौशल विकास तथा पूर्व प्रस्थान उन्मुखीकरण प्रशिक्षण (पीडीओटी), दोनों प्रशिक्षण उम्मीदवारों को दिए जाते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय व्यापार शिखर सम्मेलन 2022 शुरू, मुसलमानों को बाजार को बेहतर ढंग से समझने में मदद करने के लिए

हैदराबाद: अल्पसंख्यक नेतृत्व वाले व्यवसायों को देश में बढ़ने और समृद्ध होने के लिए एक मंच प्रदान करने के लिए एक ठोस प्रयास जारी है। करियर विकल्प के रूप में व्यवसाय की ओर अंतर्राष्ट्रीय व्यापार परामर्शदाता मुस्लिम समुदाय में एक आदर्श बदलाव लाने की मांग की गई है। मुस्लिम उद्यमियों को उनकी ताकत, कमजोरियों और व्यापार क्षेत्र में उभरते अवसरों को समझने में मदद करने के लिए शुक्रवार को यहां एक अंतरराष्ट्रीय व्यापार शिखर सम्मेलन चल रहा है।

मुस्लिम चैंबर ऑफ अंतर्राष्ट्रीय व्यापार परामर्शदाता कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (एमसीसीआई) ने व्यवसायों, उद्यमियों और स्टार्ट-अप के लिए उपलब्ध अवसरों की दुनिया को खोलने की योजना बनाई है। तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार शिखर सम्मेलन 2022, जो आज शुरू हुआ, विशेष रूप से छोटे और मध्यम व्यवसायों के लिए व्यापार के अवसरों के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार परामर्शदाता अंतर्राष्ट्रीय व्यापार परामर्शदाता रास्ते खोलने की उम्मीद करता है।

का सारांशANKOसितंबर 2022 में तीन प्रमुख प्रदर्शनियां-फ्रोज़न फ़ूड उद्योग बढ़ रहा है

का सारांशANKOसितंबर 2022 में तीन प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय व्यापार कार्यक्रम


का सारांशANKOसितंबर 2022 में तीन प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय व्यापार अंतर्राष्ट्रीय व्यापार परामर्शदाता कार्यक्रम

का सारांशANKOसितंबर 2022 में तीन प्रमुख प्रदर्शनियां-फ्रोज़न फ़ूड उद्योग बढ़ रहा है

  • शेयर करना :

इस साल,ANKOसितंबर में तीन महत्वपूर्ण ग्लोबल फूड शो में भाग लिया, जिसमें सिंगापुर में एफएचए फूड एंड बेवरेज , सिडनी में फाइन फूड ऑस्ट्रेलिया और लास वेगास, यूएसए में इंटरनेशनल बेकिंग इंडस्ट्री एक्सपोजिशन (आईबीआईई) शामिल हैं। इन आयोजनों ने हमें दुनिया भर के खाद्य उपकरण निर्माताओं, कच्चे माल के आपूर्तिकर्ताओं और खाद्य प्रसंस्करण प्रौद्योगिकी व्यवसायों से मिलने की अनुमति दी।

पिछले दो वर्षों में,ANKOकई खाद्य व्यवसायों के बदलते रुझान और जमे हुए खाद्य उद्योग के विकास को देखा है। वैश्विक मुद्रास्फीति के जवाब में, कच्चे माल की बढ़ती लागत, श्रम संसाधनों में कमी, और न्यूनतम मजदूरी में वृद्धि, दुनिया भर के कई उत्पादक स्वचालित खाद्य उत्पादन में परिवर्तित हो रहे हैं। वे बेहतर लाभ मार्जिन, कम श्रम लागत और बढ़ी हुई उत्पादकता के भविष्य में निवेश कर रहे हैं। स्वचालन भी उत्पादन की गुणवत्ता में वृद्धि करते हुए तकनीकी प्रवेश बाधा को कम करने का एक तरीका है।ANKOस्वचालित उत्पादन लाइन बनाने के लिए भोजन तैयार करने, बनाने और पैकेजिंग उपकरण के विन्यास के साथ हमारे ग्राहकों की सहायता करने के लिए टर्नकी योजना सेवाएँ प्रदान करता है।

सीमा शुल्क छूटों की समीक्षा के लिए सुझाव

इस संदर्भ में, आगे की समीक्षा के उद्देश्य से कुछ सीमा शुल्क छूट की पहचान की गई है। उनकी समीक्षा के संबंध में सुझाव आमंत्रित किए जाते हैं, जिनमें अधिसूचना के समीक्षा की आवश्यकता, अधिक स्पष्टता हेतु अधिसूचना के शब्दों में संशोधन, समेकनएवं उपयोग की सीमा आदि जैसे अन्य प्रासंगिक कारक शामिल हो सकते हैं।

इस विषय पर प्रासंगिक सुझावहेतु आयातकों, निर्यातकों, घरेलू उद्योग, व्यापार संघों, सभी हितधारकों, विशेष रूप से अंतर्राष्ट्रीय व्यापार और जनता केव्यापक विचार आमंत्रित किए जाते हैं।

टाइमलाइन

गतिविधि अंतिम तिथि : 20 अगस्त 2021

सीमा शुल्क छूटों की समीक्षा के लिए सुझाव

NIC logo

MyGov प्लेटफॉर्म को राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा डिजाइन, विकसित और होस्ट किया गया है।

जीसीसी मंत्रियों ने अन्य देशों के साथ मुक्त व्यापार समझौते बढ़ाने पर चर्चा की

अबू धाबी, 9 दिसंबर, 2020 (डब्ल्यूएएम) -- विदेश व्यापार राज्य मंत्री डॉ. थानी बिन अहमद अल जायोदी ने खाड़ी सहयोग परिषद यानी जीसीसी की बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक में जीसीसी के महासचिव डॉ. नएफ फलाह एम. अल हैरफ भी उपस्थित थे। बैठक में बहुपक्षीय वार्ता और व्यापार परामर्श में जीसीसी देशों की स्थिति का सहयोग करने और उनके उद्देश्यों को प्राप्त करने में मदद करने के लिए किए गए प्रयासों पर चर्चा की गई। बैठक को संबोधित करते हुए डॉ अल जायोदी ने जीसीसी देशों के बीच समन्वय को सुदृढ़ करने और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में अधिक खुलापन लाने और मुक्त व्यापार समझौतों के माध्यम से आर्थिक विविधीकरण योजनाओं को अपनाने को सुनिश्चित करने की आवश्यकता पर प्रकाश डाला। उन्होंने जीसीसी देशों और दुनिया के अन्य देशों के बीच मुक्त व्यापार समझौतों में तेजी लाने के उद्देश्य से यूएई सरकार की योजनाओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने आगे कहा, "जीसीसी देशों ने राष्ट्रीय आय के स्रोतों में विविधता लाने और अपने गैर-तेल निर्यात को बढ़ाकर और अपने विदेशी व्यापार की वृद्धि व प्रतिस्पर्धा सुनिश्चित करने और वैश्विक बाजारों में अपने व्यापार व निवेश हितों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से रणनीतियों और योजनाओं का सहयोग करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता पर जोर दिया है।"

रेटिंग: 4.34
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 600