Sunlights Benefits : सर्दियों में धूप में बैठने से मिलेंगे ये गजब के फायदे, सोचने की क्षमता बढ़ जाती है

Sunlights Benefits: सर्दियों धूप अमृत के समान है। धूप सेंकना शरीर को अतिरिक्त पोषण देने के बराबर है। सूर्य से मिलने वाली धूप में गजब की उर्जा होती जो शरीरऔर दिमाग की देखभाल करती है। ठंड के मौसम में समय ििनकालकर धूप सेकना चाहिए। सर्दियों में रोजाना सिर्फ 10 मिनट धूप में बैठने से भी बॉडी को पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी मिल रहा है। वहीं अगर आप हेल्दी रहना चाहते हैं तो सर्दियों के मौसम में हफ्ते में 4 दिन धूप जरूर लेनी चाहिए।

पढ़ें :- इन 5 कारणों से तेजी से बढ़ता है वजन, भूल कर भी न करें इन्हें अपनी लाइफ में शामिल

धूप में बैठने से बॉडी को पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी मिलता है। बता दें विटामिन डी की कमी होने से दिमाग का सही तरीके से विकास नहीं हो पाता है और वहीं अगर युवाओं में विटामिन डी की कमी होती है तो इसकी वजह से डिप्रेशन में जाने की संभावना काफी बढ़ जाती है।लेकिन अगर आप रोजाना धूप में बैठते हैं तो आप डिप्रेशन को कम कर सकते हैं।

1.धूप सेंकने के दौरान शरीर में मेलाटोनिन हार्मोन रिलीज होता है जिससे अच्छी और गहरी नींद आती है. इससे बॉडी तो एक्टिव रहती ही है, साथ ही मेंटल स्ट्रेस भी भी दूर होता है।

2.हड्डियों को मजबूत बनाने और कई तरह की बीमारियों को दूर करने के लिए भी धूप लेना बहुत आवश्यक है।

3.धूप से एक्जिमा, सोरायसिस, बैक्टीरियल इंफेक्शन, फंगल प्रॉब्लम जैसी समस्याओं से भी राहत मिलती है।

What is cryptocurrency | advantage and disadvantage of cryptocurrency | क्रिप्टो करेंसी क्या है | क्रिप्टो करेंसी के फायदे और नुकसान क्या है

दुनिया के किसी भी व्यक्ति, संस्था या देश को अपनी मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति और आपसी लेन देन के लिए एक मुद्रा यानी कि एक currency की आवश्यकता होती है। जैसे कि भारत में रूपया है, अमेरिका में डॉलर है, इंग्लैंड में पाउंड्स है वैसे ही वर्तमान में एक नई करेंसी प्रचलन में है और वो है cryptocurrency तो आइए जानते हैं कि ये crytocurreny क्या है?

Cryptocurrency
Cryptocurrency

What is cryptocurrency | क्रिप्टो करेंसी क्या है

Cryptocurrency एक ऐसी मुद्रा है जो computer Algorithm पर बनी होती हैं। यह एक स्वतंत्र मुद्रा है जिसका कोई मालिक नहीं होता। यह curreny किसी भी authority के काबू में नहीं होती है अमूमन डॉलर, रुपया, यूरो या अन्य मुद्रा के तरह ही इस मुद्रा का चलन किसी राज्य, देश, संस्था, या सरकार द्वारा नहीं किया जाता। यह एक digital currency होती है जिसके Bitcoin के फायदे लिए cryptography का प्रयोग किया जाता है।

आमतौर पर इसका उपयोग किसी समान की खरीदारी या कोई service खरीदने के लिए किया जाता है। इसे न तो कोई देख सकता है न ही कोई छू सकता है। क्योंकि भौतिक रूप से cyptocurrency का मुद्रण होता ही नहीं है। इस लिए इसे आभासी (virtual) मुद्रा (currency) भी कहा जाता Bitcoin के फायदे है।

पिछले कुछ सालों में ऐसे currency काफी प्रचलित हुई। नॉलेज के लिए हम सबको पता होना चाहिए की सर्वप्रथम cryptocurrency का इस्तेमाल 2009 में हुई थी जो की bitcoin थी। Bitcoin के अलावा अन्य cryptocurrency बाजार में उपलब्ध हैं जिनका प्रयोग आजकल हो रहा है जैसे कि redcoin, ripple, litecoin, ethereum इत्यादि।

What are the advantages of Bitcoin के फायदे crypto currency| क्रिप्टो करेंसी के फायदे क्या है

आइए जानते हैं कृपया करेंसी के लाभ क्या क्या है? हमें पता है किसी भी वस्तु का फायदे और नुकसान दोनों होता है। इसलिए सबसे पहले क्रिप्टोकरंसी के लाभ के बारे में बात करते हैं। आम पर कह सकते हैं कि कृपया करण से क्या लाभ ज्यादा है और नुकसान कम है।

2. अधिक पैसा होने पर cryptocurrency में निवेश करना अधिक फायदेमंद है। क्योंकि इसके कीमतों में बहुत तेजी से उछाल आता है। निहाजा निवेश के लिए एक बहुत अच्छा प्लेटफार्म है।

3. अधिकतर cryptocurrency के wallet उपलब्ध है, जिसके चलते ऑनलाइन खरीदारी, पैसे का लेन देन सरल हो चुका है।

4. cryptocurrency को कोई भी Authority कंट्रोल नहीं करती जिसके चलते नोटबंदी और करेंसी का मूल्य घटने जैसा खतरा किसी के सामने नहीं आता।

5. कई बार ऐसे हैं जहां कैपिटल कंट्रोल नहीं है मतलब कि Bitcoin के फायदे यह बात तय ही नहीं है कि देश के बाहर कितना पैसा भेजा जा सकता है और कितना पैसा मंगवाया जा सकता है।लिहाजा cryptocurrency खरीद कर उसे बाहर आसानी से भेजे जा सकते हैं। उसे पैसे में कन्वर्ट कर लिया जाता है।

6. cryptocurrency का फायदा उन लोगों को होता है जो अपना धन छुपा कर रखना चाहते हैं। इसलिए cryptocurrency पैसे छुपा कर रखने के लिए सबसे अच्छा प्लेटफार्म उभर कर आया है।

7. cryptocurrency पूरी तरह से सुरक्षित है बस आपको उसके लिए ऑथेंटिकेशन रखने की आवश्यकता होती है। क्योंकि ऐसे currency, blockchain पर आधारित है। लिहाजा किसी भी प्रकार का ट्रांजैक्शन करने के लिए पूरे blockchain को माइंड करना पड़ता है।

अभी तक हमने cryptocurreny के लाभ के बारे में बताया आपको तो पता ही होगा की जहा फायदा होता है वही नुकसान भी अपना पाव पसारता है। तो फिर चलिए जानते हैं cryptocurrency के नुकसान के बारे में।

What are the disadvantage of cryptocurrency | क्रिप्टो करेंसी के नुकसान क्या हैं

1. Cryptocurrency का सबसे बड़ा नुकसान तो ये है कि इसका कोई भौतिक अस्तित्व नहीं है क्योंकि इसका मुद्रान नही किया जाता। मतलब कि न ही इस करेंसी के नोट छापे जा सकते हैं और न ही इस करेंसी के बैंक या पासबुक जारी किए जा सकते हैं।

2. इसको control करने के लिए कोई देश, सरकार, या संस्था नही है। जिससे की इसकी कीमत में बहुत उछाल या फिर बहुत अधिक गिरावट देखने को मिलता हैं। जिसके वजह से cryprocurrency में निवेश करना थोड़ा जोखिम भरा है।

3. Cryptocurency का इस्तेमाल गलत कामों को बढ़ावा देता है जैसे कि इसका इस्तेमाल हथियार बनाना, खरीद फरोख्त, ड्रक्स सप्लाई, कालाबाजारी आदि में इसे किया जा सकता है। जो कि इसका इस्तेमाल दो लोगो के बीच में ही किया जा सकता है। ज्यादा यह काफी खतरनाक हो सकता है।

4. Cryptocurreny को हैक करने का भी खतरा बना रहता है। यह बात बीगर है कि Blockchain को हैक करना उतना आसान नहीं है। क्योंकि इसमें security का पूरा इंतजाम होते हैं। बावजूद इसके इस currecy के मालिक न होने के कारण hacking होने से मना भी नहीं किया जा सकता।

5. यदि cryptocurrecy का transaction आपसे गलती से किसी और के पास हो गया तो इसे वापस नहीं मंगा सकते। जिससे आपको घाटा होता है।

यह सब जानने के बाद आपके दिमाग में क्वेश्चन आ रहा होगा कि क्या कानूनी रूप से इसे उपयोग करना वैध है या नहीं। दर्शन इसका उत्तर आपके इस बात पर निर्भर करता है कि आप कौन से देश में रह रहे हैं। वहां कौन सा करेंसी प्रचलन में है। कौन सा देश में इसे वैध माना गया है या नहीं। क्योंकि कुछ देश में क्रिप्टोकरंसी को ग्रे जोन में रखा गया है। पता उस देश में न तो औपचारिक तौर पर इसे यूज करने के लिए कहा गया और ना ही इसे कानूनी रूप से वैध करने के लिए कहां गया हो।

आतम कह सकते हैं कि भारत में क्रिप्टो करेंसी के कीमतों में उछाल होने के कारण लोगों में इस का रुझान देखने को मिल रहा है। आने वाले समय में हो सकता है कि भारत में भी इसे चलाने का औपचारिक रूप से इसे वैध करने के तरफ बढ़े।

आप लोगों से उम्मीद करते हैं कि क्रिप्टो करेंसी से संबंधित यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। कृपया अपने दोस्तों के साथ ही से शेयर करें। इसी तरह की और इंफॉर्मेशन के लिए हमें सब्सक्राइब करें।

मैं बिनेंस पर INR में बिटकॉइन कैसे खरीदूं?

पिछले एक साल में बड़ी संख्या में भारतीय निवेशकों ने क्रिप्टोकरेंसी में अपनी रुचि दिखाई है। वैश्विक महामारी से उत्पन्न अनिश्चितताओं के अलावा, भारतीयों ने मई 2021 के अंत तक हजारों करोड़ रुपये जमा किए हैं। इस जबरदस्त निवेश उछाल का कारण दुनिया भर में प्रमुख क्रिप्टोकरेंसी द्वारा प्रदान किए गए निवेश पर प्रतिफल (रिटर्न) है। अकेले पिछले एक साल के निचले स्तर के बावजूद, बिटकॉइन की कीमत चार गुना और एथेरियम दस गुना से अधिक बढ़ गई है।

हालांकि देश में क्रिप्टोकरेंसी के लिए विनियमन अस्थिर रहा है, फिर भी भारत में क्रिप्टो निवेशों ने महत्वपूर्ण संकर्षण प्राप्त किया है। 15 मिलियन से अधिक भारतीयों ने डिजिटल मुद्राएं खरीदी या बेची हैं।

दुनिया की सबसे बड़ी आईटी आबादी वाले देश में कई क्रिप्टो उत्साही मानते हैं कि भारतीय निवेशकों द्वारा प्रदान की गई वर्तमान मात्रा बड़े पैमाने पर आपनाये जाने के मामले में केवल हिमशैल का सिरा है।

बिनेंस पर INR में बिटकॉइन खरीदने के लिए इन चरणों का पालन करें:

बिनेंस दुनिया का सबसे बड़ा क्रिप्टो एक्सचेंज है, जिस पर दुनिया भर के लाखों उपयोगकर्ता भरोसा करते हैं। हमारे प्लेटफॉर्म में भारतीय निवेशकों के लिए INR में क्रिप्टोकरेंसी खरीदने और बेचने का विकल्प है। भारत में INR में बिटकॉइन खरीदने के लिए नीचे दिए गए कदमों अथवा चरणों का पालन करें।

चरण 1: अपना बिनेंस खाता बनाएं

बिनेंस के साथ साइन अप करें और अपना ईमेल पता या मोबाइल फोन नंबर जैसे आवश्यक विवरण भरें। अपने क्रिप्टो वॉलेट की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हमेशा एक मजबूत पासवर्ड चुनना याद रखें। आप अपना बिनेंस खाता बनाने के लिए मोबाइल फ़ोन एप्लिकेशन भी डाउनलोड कर सकते हैं। आप सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत प्रदान करते हुए, 2FA या दो-कारक प्रमाणीकरण (two-factor authentication) के साथ अपने खाते की सुरक्षा भी कर सकते हैं। प्रोफ़ाइल टैब के अंतर्गत "सुरक्षा" (“Security”) विकल्प पर क्लिक करें।

चरण 2: अपना केवाईसी सत्यापन (verification) पूरा करें

केवाईसी (KYC- Know your customer) एक वित्तीय संस्थान द्वारा ग्राहक की पहचान का अनिवार्य सत्यापन है। केवाईसी प्रक्रिया में विभिन्न दस्तावेज शामिल हैं जिनका उपयोग आपकी पहचान को सत्यापित करने के लिए किया जा सकता है जैसे वैध पहचान पत्र, उपयोगिता बिल, और इसी तरह। प्रोफाइल टैब पर क्लिक करें, और फिर ड्रॉपडाउन मेनू से पहचान (identification) विकल्प चुनें।

चरण 3: अपनी पहचान सत्यापित (verify) करें

अपना केवाईसी विवरण दर्ज करने के बाद, सत्यापन प्रक्रिया शुरू करने के लिए वेरीफाई (verify) बटन पर क्लिक करें। कृपया ध्यान दें कि जमा किए गए दस्तावेज़ Bitcoin के फायदे केवल आपकी राष्ट्रीयता के अधिकारियों द्वारा जारी किए हुए होने चाहिए।

चरण 4: सत्यापन (verification) पूरा करें

पुष्टि करें कि आपके केवाईसी सत्यापन को स्वीकार करने के लिए प्रस्तुत किए गए विवरण सटीक हैं। सत्यापन प्रक्रिया में कुछ समय लग सकता है, जिसके बाद आपका खाता ट्रेडिंग के लिए तैयार हो जाएगा। आपके पास बुनियादी (basic) से उन्नत (advanced) सत्यापन मॉडल पर स्विच करने का विकल्प भी होगा।

चरण 5: बिनेंस पी2पी के माध्यम से INR में बिटकॉइन खरीदें

बिनेंस पी2पी (पीयर-टू-पीयर एक्सचेंज) एक ऐसा बाज़ार है जहाँ लोग लगभग किसी भी देश में अपनी शर्तों पर एक-दूसरे के साथ सीधे क्रिप्टो व्यापार कर सकते हैं। 70 से अधिक फिएट मुद्राओं के साथ, पी2पी मार्केटप्लेस भारतीय निवेशकों के लिए भारतीय रुपये में क्रिप्टोकरेंसी खरीदना और बेचना आसान बनाता है।

मार्केटप्लेस पर जाने के लिए, वॉलेट टैब पर क्लिक करें, और फिर ड्रॉपडाउन मेनू से पी2पी विकल्प पर क्लिक करें। आप यहां क्लिक करके भी मार्केटप्लेस जा सकते हैं।

चरण 6: बिटकॉइन खरीदने के लिए अपनी आवश्यकताओं को भरें

व्यापार करने के लिए क्रिप्टोकुरेंसी के रूप में बीटीसी का चयन करें, और फिर 'खरीदें' विकल्प चुनें। वह राशि दर्ज करें जिसे आप फिएट मुद्रा के रूप में INR के साथ खरीदना चाहते हैं। उस भुगतान विकल्प का चयन करें जिसे आप मौजूद विभिन्न विकल्पों में से चुनना चाहते हैं। बिनेंस द्वारा सत्यापित व्यापारियों की सूची के साथ बिटकॉइन से INR मूल्य और, उनकी न्यूनतम और अधिकतम बिक्री की सीमा के लिए "केवल व्यापारी विज्ञापन दिखाएं" (“only show merchant ads “) विकल्प पर क्लिक करें।

चरण 7: व्यापारियों से बिटकॉइन खरीदना

उपयुक्त मर्चेंट का चयन Bitcoin के फायदे करने के बाद, बीटीसी खरीदें ("BUY BTC") विकल्प पर क्लिक करें और अपनी चयनित फिएट मुद्रा में खरीदारी करने के लिए राशि भरें।

बीटीसी खरीदें ("BUY BTC") पर क्लिक करने के बाद, आपके पास पहले चुने गए भुगतान विकल्प के माध्यम से मर्चेंट को फंड ट्रांसफर करने के लिए 15 मिनट की समय सीमा होगी। भुगतान करें, और फिर "स्थानांतरित, अगला" (“Transferred, NEXT”) पर क्लिक करें।

चरण 8: व्यापारी से बिटकॉइन प्राप्त करना

व्यापारी को आपके खाते में खरीदे गए बिटकॉइन की राशि को स्थानांतरित करने के लिए एक सूचना मिलेगी। आपको व्यापारी से कुछ ही मिनटों में अपना बिटकॉइन प्राप्त हो जाएगा।

देरी होने पर, आप हमेशा "अपील उठा सकते हैं"। आपके द्वारा “स्थानांतरित, अगला” (“Transferred, NEXT”) विकल्प पर क्लिक करने के तुरंत बाद ही यह विकल्प उपलब्ध है। अगला कदम होगा "अपील का कारण" के लिए सबूत के साथ अपने तर्क का समर्थन करना।

अपने बिनेंस खाते से भारत में INR में बिटकॉइन खरीदने के लिए बस इतना ही करना है। यह आसान और तेज़ है। आप इस विशेष मार्गदर्शिका का उपयोग बिनेंस पी2पी मार्केटप्लेस के माध्यम से अन्य क्रिप्टोकरेंसी खरीदने के लिए भी कर सकते हैं।

Saunf ke labh : सौंफ खाने के क्या हैं फायदे आपको पता है ? अब जानिए यहां पर

Saunf ke labh : सौंफ खाने के क्या हैं फायदे आपको पता है ? अब जानिए यहां पर

well being suggestions : खून को साफ करने के लिए भी आपको सौंफ के काढ़े का सेवन करना चाहिए.

Saunf advantages : जब भी आपके घर पर लंच और डिनर पर कोई मेहमान आता है तो उसको स्वादिष्ट पकवान खिलाने के बाद आप उसको सौंफ और मिश्री खाने को जरूर देते होंगी. इसको खाने से Bitcoin के फायदे रिफ्रेशमेंट आती है और खाना अच्छे से डाइजेस्ट भी हो जाता है. इसके अलावा भी कई लाभ हैं जिसके बारे में कम ही लोगों को पता है तो चलिए जानते हैं उनके बारे में. सबसे पहले बता देते हैं इसमें मौजूद पोषक तत्वों के बारे में. इसमें विटामिन सी (vitamin c), ई (vitamin e), के, जिंक (zinc), पोटैशियम, मैग्नीशियम, सेलेनियम, आयरन, फाइबर पाया जाता है.

यह भी पढ़ें

सौंफ खाने के क्या हैं लाभ

  • खून को साफ करने के लिए भी आपको सौंफ के काढ़े का सेवन करना चाहिए. इससे एंजाइम का उत्पादन बढ़ता है शरीर में. इससे शरीर की कई समस्याएं दूर होती हैं.
  • खून को साफ करने के लिए भी आपको सौंफ के काढ़े का सेवन करना चाहिए. इससे एंजाइम का उत्पादन बढ़ता है शरीर में. इससे शरीर की कई समस्याएं दूर होती हैं.
  • अगर आपको पेट की समस्या है तो इसमें सौंफ का काढ़ा बहुत लाभकारी होगा. जिन लोगों को गैस की समस्या है उन्हें तो इसका सेवन जरूर करना चाहिए, क्योंकि ये पेट की मांसपेशियों को शांत करता है.
  • जिन लोगों के मुंह से बदबू बहुत आती है उन्हें सौंफ का काढ़ा जरूर पीना चाहिए, इसे आप माउथ फ्रेशनर के रूप में इस्तेमाल कर सकती हैं. आप एक या दो हफ्ते इसका इस्तेमाल करें, जल्दी राहत मिलेगी.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए Bitcoin के फायदे ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

Featured Video Of The Day

अतिरिक्त प्रयास के लिए सिविल सेवा उम्मीदवारों ने दिल्ली में किया विरोध प्रदर्शन

क्रिप्टोकरेंसीज को बड़ा खतरा मानता है RBI, दोबारा उठाई बैन करने की मांग

Bitcoin और Ether में तेजी के साथ क्रिप्टो मार्केट में बढ़ी ट्रेडिंग वॉल्यूम

पिछले कुछ महीनों से क्रिप्टो मार्केट में गिरावट से इनवेस्टर्स को बड़ा नुकसान हुआ है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने चेतावनी दी है कि अगले वित्तीय संकट प्राइवेट क्रिप्टोकरेंसीज से आएगा। RBI ने एक बार भी क्रिप्टोकरेंसीज पर बैन लगाने की मांग की है। RBI के गवर्नर Shaktikanta Das ने बुधवार को कहा कि क्रिप्टोकरेंसीज के साथ कोई वैल्यू नहीं जुड़ी और यह मैक्रो इकोनॉमिक और वित्तीय स्थिरता के लिए रिस्क है।

आग लगने के खतरे के चलते GM ने वापिस बुलाईं 1 लाख 40 हजार Chevrolet Bolt EV कार

दिवाली के अगले दिन राजधानी में रही 7 वर्षों मे सबसे साफ हवा

इससे पहले भी RBI की ओर से क्रिप्टो पर बैन लगाने की मांग की जा चुकी है। इस महीने देश में डिजिटल रुपये का रिटेल ट्रायल शुरू किया गया है। यह ट्रायल चार बड़े शहरों – दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु और भुवनेश्वर में होगा। इसके पूरा होने के बाद यह तय होगा कि क्या सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) प्रति दिन की खरीदारियों के लिए एक एफिशिएंट जरिया है या नहीं। इस ट्रायल में हिस्सा लेने वाले बैंकों में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, ICICI बैंक, यस बैंक और IDFC फर्स्ट बैंक शामिल हैं। इससे ट्रांजैक्शंस की कॉस्ट में कमी होने की संभावना है। दुनिया के उन चुनिंदा सेंट्रल बैंकों में RBI शामिल है जिन्होंने CBDC प्रोजेक्ट शुरू किया है।

देश में डीमॉनेटाइशन होने के बाद UPI पेमेंट्स में तेजी से ग्रोथ हुई है। इसका फायदा डिजिटल रुपये को भी मिल सकता है। CBDC एक ब्लॉकचेन पर बेस्ड पेमेंट सॉल्यूशन होता है, जिस पर सेंट्रल बैंक का कंट्रोल रहता है। यह क्रिप्टोकरेंसी की तरह काम करता है लेकिन क्रिप्टोकरेंसीज की तरह CBDC में वोलैटिलिटी और अन्य रिस्क नहीं होते। केंद्र सरकार ने इस वर्ष के बजट में 2022-23 के फाइनेंशियल ईयर से CBDC को लॉन्च करने की घोषणा की थी।

रिटेल सेगमेंट में ट्रायल के लिए CBDC को एक डिजिटल वॉलेट में दिया जाएगा। यह वॉलेट स्मार्टफोन और PC के साथ कम्पैटिबल होगा। हालांकि, RBI ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि CBDC ट्रांजैक्शंस किस हद तक अज्ञात होंगी। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने एक विशेष लिमिट तक पहचान के किसी सरकारी प्रमाण के बिना कैश ट्रांजैक्शंस की अनुमति दी है। यह रूल CBDC ट्रांजैक्शंस पर भी लागू हो सकता है। हालांकि, बैंकर्स ने इस प्रोजेक्ट को लेकर आशंका जताई है। उनका कहना है कि इसमें इंटरनेट-बेस्ड बैंकिंग ट्रांजैक्शंस की तरह फायदे नहीं दिख रहे हैं।

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

रेटिंग: 4.97
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 744