Image credit: freepik

क्या है निफ्टी-50 और इसमें कैसे होता है शेयरों का चुनाव

निफ्टी-50 नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड भारत की टॉप 50 कंपनियों के भारित औसत का प्रतिनिधित्व करता है। वास्तव में निफ्टी-50 नेशनल स्टॉक एक्सचेंज 50 की शॉर्ट फॉर्म है। निफ्टी-50 एक मार्केट इंडेक्स है। निफ्टी को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज द्वारा साल 1996 में लाया गया था।

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। जब हम शेयर मार्केट में इनवेस्टमेंट, ट्रेडिंग, बुल, बेयर, इक्विटी आदि की बात कर रहे होते हैं, तो वास्तव में हम निफ्टी या सेंसेक्स के बारे में बात कर रहे होते हैं। निफ्टी और सेंसेक्स भारत की सबसे बड़ी लिस्टेड कंपनियों को दर्शाते हैं। साथ ही ये भारतीय अर्थव्यवस्था की लॉन्ग टर्म हेल्थ का अनुमान लगाने के लिए एक बैरोमीटर का भी काम करते हैं। आज हम निफ्टी-50 की बात करने जा रहे हैं। हम जानेंगे कि इसका क्या मतलब है और इसमें कौन-सी कंपनियां शामिल होती हैं। यहां बताते चलें कि 5पैसा डॉट कॉम फाइनेंशियल प्लानिंग के लिए एक बेहतर प्लेटफॉर्म है। यहां आप म्यूचुअल फंड में भी पैसा लगा सकते हैं। खास बात यह है कि यहां जीरो ब्रोकरेज की सुविधा मिलती है।

5paisa के साथ शुरू करें निवेश का सफर, विजिट करें- https://bit.ly/3n7jRhX

निफ्टी 50 क्या है?

निफ्टी-50 नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड भारत की टॉप 50 कंपनियों के भारित औसत का प्रतिनिधित्व करता है। वास्तव में, निफ्टी-50 नेशनल स्टॉक एक्सचेंज 50 की शॉर्ट फॉर्म है। निफ्टी-50 एक मार्केट इंडेक्स है। किसी भी इंडेक्स की तरह यह ब्लूचिप कंपनियों में इनवेस्टमेंट होल्डिंग्स के एक पोर्टफोलियो का प्रतिनिधित्व करता है। इसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज, भारतीय स्टेट बैंक, मारुति सुजुकी, टीसीएस, एशियन पेंट्स और 45 दूसरी इंडस्ट्री लीडिंग कंपनियां शामिल है। कई सारे म्यूचुअल फंड्स निफ्टी को अपने बेंचमार्क के रूप में यूज करते हैं। निफ्टी को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज द्वारा ऑप्शंस ट्रेडिंग के लिए कौन सी ब्रोकरेज अच्छी है साल 1996 में लाया गया था।

निफ्टी 50 स्टॉक्स का चयन कैसे होता है?

निफ्टी के पास अपनी कंपनियां चुनने के लिए एक बहुत अच्छी तरह परिभाषित और पारदर्शी कार्यप्रणाली है। इस सलेक्शन प्रोसेस को हम चार पार्ट्स में देख सकते हैं। यूनिवर्स ऑफ कंपनीज, बेसिक कंस्ट्रक्ट, लिक्विडिटी रूल्स, रीबैलेंसिंग और कॉन्स्टिट्यूशन रूल्स। निफ्टी का हिस्सा बनने के लिए किसी कंपनी को पहले नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट होना पड़ता है। कंपनी एनएसई के फ्यूचर्स एंड ऑप्शंस सेगमेंट में ट्रेडिंग के लिए भी उपलब्ध रहनी चाहिए। बेसिक कंस्ट्रक्ट की बात करें, तो चुनी हुई कंपनी फ्री-फ्लोट मार्केट कैप के मामले में टॉप 50 कंपनीज में शामिल होनी चाहिए। तीसरी चीज है लिक्विडिटी और यहां केवल उन कंपनियों को चुना जाता है, जिनकी ट्रेडिंग वॉल्यूम हमेशा उच्च होती है। आखिरी है सेमी-एनुअल रीबैलेंसिंग एक्सरसाइज, जो यह तय करता है कि कौनसा स्टॉक निफ्टी में रहेगा, कौन-सा नया स्टॉक आएगा और कौन-सा मौजूदा शेयर निफ्टी से बाहर जाएगा। यह प्रोसेस हर साल जून और दिसंबर में होती है।

समय के साथ बदलता है निफ्टी

समय के साथ निफ्टी का सेक्टोरल रूप बदल गया है। अपनी स्थापना के समय निफ्टी में कोई भी टेक्नोलॉजी कंपनी नहीं थी और केवल एक निजी बैंक था। आज निफ्टी की टॉप-10 कंपनियों में चार निजी बैंक हैं और इंफोसिस और टीसीएस के रूप में दो बड़ी आईटी कंपनीज हैं। लेकिन इसमें कोई सरप्राइस नहीं होगा कि आने वाले 5, 10 और 20 सालों में निफ्टी अभी से काफी बदल जाएगा। समय के साथ हम नई कंपनीज और नए सेक्टर्स को उभरते हुए देखेंगे। जैसे 5 साल पहले यहां कोई इंश्योरेंस कंपनी नहीं थी, लेकिन आज है। इसी तरह ई-कॉमर्स और इंटरनेट कंपनियां पहले पूरी तरह प्राइवेट थीं, लेकिन आज हमारे पास जोमैटो है। इसके बाद फ्लिपकार्ट, पेटीएम, बायजू और दूसरे नए कंज्यूमर फेसिंग बिजनस ऑप्शंस ट्रेडिंग के लिए कौन सी ब्रोकरेज अच्छी है इसे फॉलो करेंगे।

1000 अंक के बेस से हुई थी शुरुआत

निफ्टी50 ने अपनी यात्रा 1000 पॉइंट्स की बेस वेल्यू से शुरू की थी। आज यह 18,000 के स्तर को पार कर गया है। इस तरह इसने गोल्ड और रियल एस्टेट जैसे दूसरी एसेट क्लास की तुलना में काफी अधिक रिटर्न दिया है। हालांकि, इक्विटी मार्केट्स के नेचर को दर्शाते हुए निफ्टी 50 में कई उतार-चढ़ाव भी आए हैं। जैसे साल 2008 में निफ्टी 50 फीसद से अधिक गिर गया और अगले ही साल 2009 में 76 फीसद बढ़ गया।

लगातार चौथे दिन बाजार में तेजी, राजेश पालवीय से जानें निफ्टी में ट्रेडिंग रणनीति और जोरदार कमाई वाले स्टॉक्स

बैंक निफ्टी में कॉल राइटर्स सबसे ज्यादा 36300, 36400 और 36500 के स्तर पर एक्टिव नजर आये

Axis securities के राजेश पालवीय ने कहा निफ्टी 16600 को क्रॉस नहीं करता तब तक इसमें बाय ऑन डिप्स की रणनीति से ट्रेड करना चाहिए

शेयर बाजार में लगातार चौथे दिन तेजी है। निफ्टी 16500 के ऊपर टिकने में कामयाब रहा है। बैंक निफ्टी के मुकाबले निफ्टी आज ज्यादा मजबूत है। ऐसे में हम ऑप्शंस के आंकड़ों के जरिये ये समझने की कोशिश करेंगे की राइटर्स कल की एक्सपायरी के लिए कौन सी रेंज देख रहे हैं। सीएनबीसी-आवाज़ के फ्यूचर एक्सप्रेस में आज के हमारे एक्सपर्ट एक्सिस सिक्योरिटीज के राजेश पालवीय हैं। राजेश ने अपनी शानदार कॉल्स के साथ एक सस्ता ऑप्शन भी दिया।

NIFTY में राइटर्स की रेंज

आज दोपहर 12 बजे के दौरान निफ्टी में सबसे ज्यादा कॉल राइटर्स 16600, 16700 और 16800 के लेवल पर एक्टिव नजर आये

Stock Market Trading: बेस्ट करियर ऑप्शन में से एक है स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग, जानें कैसे करें कोर्स

Stock Market Trading Courses: यहां जानें स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग में करियर विकल्प क्या हैं और आप इसमें किन योग्यताओं के साथ जॉब कर सकते हैं।

word-stocks-decreasing-coins

Image credit: freepik

हाइलाइट्स

  • स्टॉक मार्केट क्यों है बेस्ट करियर ऑप्शन?
  • जानें कोर्स के लिए कौन-सी योग्ताएं हैं जरूरी
  • इस फील्ड में जॉब करने से मिलते हैं कई फायदे
  • आप अपने खुद के मालिक हो सकते हैं।
  • करेक्ट नॉलेज और स्ट्रेटजी के साथ, आप मार्केट से अच्छा पैसा कमा सकते हैं।
  • आप कैश मार्केट (cash market) से डेरिवेटिव मार्केट (derivative market) तक बढ़ सकते हैं और लीवरेज को अपना फ्रेंड बना सकते हैं
  • आप रिसर्चर या ट्रेनर भी बन सकते हैं
  • आप सेबी पंजीकृत निवेश सलाहकार (SEBI registered Investment Advisor) या सेबी पंजीकृत अनुसंधान विश्लेषक (SEBI registered Research Analyst) बन सकता है और कंसल्टिंग कर सकते हैं।
  1. स्टॉकब्रोकर (Stockbroker)
  2. फाइनांशियल एडवाइजर (Financial Advisor)
  3. इनवेस्टमेंट एडवाइजर (Investment Advisor)
  4. पोर्टफोलिया मैनेजमेंट सर्विस (Portfolio Management Services) (PMS)
  5. रिसर्च एनालिस्ट (Research Analyst)
  6. ऑनलाइन स्टॉक ट्रेडिंग (Online Stock Trading)
  7. फाइनांशियल एनालिस्ट (Financial Analyst)
  8. इक्वीटी इनालिस्ट (Equity Analyst (Fundamental/ Technical)
  9. मार्केट रिसर्चर (Market Researcher)
  10. एमएफ डिस्ट्रिब्यूटर / एडवाइजर (MF Distributor/Advisor)
  11. इंश्योरेंस डिस्ट्रीब्यूटर / एडवाइजर (Insurance distributor/advisor)
  • एक क्लीयर ट्रेडिंग प्लान तैयार करना। ट्रेडिंग प्लान का लक्ष्य श्ूजर के लिए क्लीयर और मीनिंगफुल होना चाहिए।
  • स्ट्रैटजी को लागू करने के लिए ट्रेडर को टेक्नोलॉजी और मेथ्ड से फैमिलियर होना चाहिए।
  • आउटकम को प्राप्त करने की प्लानिंग के लिए, ट्रेडर को प्लानिंग पर भरोसा करना चाहिए।
  • लगातार सफलता प्राप्त करने में सक्षम होने के लिए रेवेंज ट्रेडिंग (revenge trading), रीसेंसी बायस (recency bias), स्टीरियोटाइपिंग इत्यादि जैसे बिहेवेरियल बायसेज (behavioral biases) के बारे में हमेशा अवेयर रहना चाहिए।
  • हमेशा कुछ नियम रखें और हमेशा उनका पालन करें।
  • ट्रेडिंग को फुलटाइम प्रोफेशन/बिजनेस के रूप में मानें जिसमें बिजनेस करने की लागत में आपको होने वाली हानि होती है। नुकसान से कभी भी न हिचकिचाएं और हमेशा स्ट्रिक्ट स्टॉप-लॉस का पालन करें।
  1. ट्रेडर ज्यादातर सेल्फ थॉट ब्रीड (self-taught breed) होते हैं। हालांकि, एक प्रोफेशनल ट्रेडर को शुरू करने के लिए फाइनांस की मूल बातें समझने की जरूरत है। ऑप्शंस ट्रेडिंग के लिए कौन सी ब्रोकरेज अच्छी है कॉलेज की डिग्री आजकल एक प्रीकंडीशन है - कम से कम यदि आप ट्रेडिंग को सिरियसली लेना चाहते हैं या किसी सम्मानजनक फाइनांशियल इंस्टीट्यूशन या कॉर्पोरेशन में ट्रेडिंग से रिलेटेड करियर बनाना चाहते हैं।
  2. अधिकांश ट्रेडर के पास मैथ्स, फाइनांस, अकाउंटिंग, इकोनॉमिक्स या इंडस्ट्री में डिग्री होती है। डिफाइंड क्राइटेरिया के रूप में, शुरुआत करने के लिए आयु 18 वर्ष हो ऐसा जरूरी नहीं है। शेयर बाजार में निवेश करने की कोई न्यूनतम उम्र नहीं है। नाबालिग और वयस्क दोनों शेयरों में निवेश कर सकते हैं।
  3. माता-पिता या गार्जियन द्वारा संबंधित दस्तावेज जमा करने के बाद नाबालिग के नाम पर अकाउंट खोला जा सकता है। नाबालिग के वयस्क होने तक माता-पिता या गार्जियन अकाउंट की देखरेख करते हैं। नाबालिग के 18 साल के होने के बाद, डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट व्यक्ति को कुछ केवाईसी (अपने ग्राहक को जानो) दस्तावेज प्राप्त करने के लिए एक एडवाइजरी भेजता है ताकि वह नया अकाउंट खोल सके और उसमें डिटेल ट्रांसफर कर सके।
  4. डीमैट अकाउंट खोलने के लिए पैन कार्ड जरूरी है। इसे खोलते समय आपको केवाईसी दस्तावेजों के साथ अपने पैन कार्ड की एक प्रति जमा करनी होगी। दूसरी ओर, किसी के लिए इस इंडस्ट्री में इनवेस्टेंट एडवाइजरी या किसी कंसल्टिंग कंपनी में प्रोफेशनल के रूप में काम करने के लिए एनआईएसएम सर्टिफाइड होना चाहिए और इकोनॉमिक्स / बिजनेस मैनेजमेंट / फाइनांस या इसी तरह के कोर्स में मास्टर या ग्रेजुएट होना जरूरी है।

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म. पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

zerodha margin calculator 2023: ट्रेडिंग ब्रोकरेज शुल्क से हैं परेशान, तो आज ही जुड़े भारत की सबसे बड़ी कंपनी के साथ

zerodha margin calculator 2022:- ज़ेरोधा क्या है? संक्षिप्त विवरण जाने: अगर आप शेयर मार्केटिंग या स्टॉक मार्केटिंग में जुड़कर कार्यों को करना चाहते हैं या आप एक अपना demat account open करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको यह जानना होगा कि Zerodha Kya Hai?

हिंदुस्तान में बहुत ही कम दर पर ट्रेडिंग खाते और डीमेट खाते की सुविधा प्रदान करने वाली बहुत सारी कंपनियां मौजूद है| बस उन्हीं कंपनियों में से एक कंपनी ज़ेरोधा है| ज़ेरोधा की सर्विस से सबसे फास्ट है इसके अलावा यहां पर बड़ी डिस्काउंट ब्रोकर इन सेवा भी मिलती है| इसके अतिरिक्त ज़ेरोधा छोटे निवेशक को या बड़े निवेशकों के लिए बहुत ही अच्छा प्लेटफार्म मुहैया कराता है|

zerodha margin calculator 2022

इस पोस्ट में क्या है?

Zerodha margin calculator kya HAi?

zerodha margin calculator 2022:- क्या आप ज़ेरोधा के पुराने अथवा ने ग्राहक हैं और आप काफी दिनों से परेशान भी है की स्टॉक मार्केटिंग, मैचुअल फंड वगैरा-वगैरा कैसे कार्य करते हैं या फिर क्या मुनाफा है, क्या घाटा लग रहा है |

तो आप घबराएं नहीं इसके लिए हम और आप मिलकर zerodha margin calculator के बारे में जानकारी लेंगे | जिसके माध्यम से आप किसी भी स्टॉक मैचुअल फंड या zerodha के अन्य किसी भी प्रोडक्ट में क्या बेनिफिट आपको मिल रहा है! और कैसे आपको पैसे इन्वेस्ट करना है|

Also read: zerodha margin calculator 2022

mis in zerodhazerodha margin calculator 2022

इसके संबंधित सभी जानकारी आप लोग जीरोधा मार्जिन कैलकुलेटर के माध्यम से निकाल सकते हैं | वैसे zerodha margin calculator 2022 काफी प्रचलित मार्जिन कैलकुलेटर में से एक है | मार्जिन कैलकुलेटर इस्तेमाल करना बेहद आसान है | इस mis in zerodha पोस्ट को पूरा अवश्य पढ़ें! अगर आप भी एक ही बार में zerodha margin calculator 2022 को सीखना चाहते हैं तो|

zezerodha margin calculator 2022 Equity, futures

ज़ेरोधा की आधिकारिक zerodha.com वेबसाइट में zerodha margin calculator 2022 को चार भागों में विभाजित किया गया है:

zerodha margin calculator kya HAi

नीचे दिए गए लिंक की मदद से आप डायरेक्टली zerodha के आधिकारिक https://zerodha.com/margin-calculator/Futures/ वेबसाइट पर जाकर जीरोधा मार्जिन कैलकुलेटर का इस्तेमाल कर सकते हैं|

Zerodha Broking Limited Information related highlights

Leave a Comment Cancel reply

DISCLAIMER

Gadgetsupdateshindi.com यह वेब पोर्टल सरकारी योजना, न्यू गैजेट्स, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स, टेक गेजेट्स, आधार कार्ड अपडेट, पैन कार्ड, पासपोर्ट, राशन कार्ड, आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड, प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री श्रम मानधन योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, जन आरोग्य योजना, शादी विवाह अनुदान योजना, स्व निधि योजना, न्यूज़ अपडेट, सरकार द्वारा जारी गवर्नमेंट स्कीम संबंधित न्यूज़ अपडेट तथा कॉमन सर्विस सेंटर के द्वारा प्रदान की गई अपडेट संबंधित जानकारियां उपलब्ध कराती है |

यह वेब पोर्टल किसी भी राज्य अथवा केंद्र सरकार के डिपार्टमेंट से नहीं है, या कहें कि किसी भी तरह का कोई सरकारी डिपार्टमेंट की वेब पोर्टल नहीं है| इस पर मिलने वाले सभी कांटेक्ट समाचार पत्रों और सोशल मीडिया तथा ट्यूटर पे ट्वीट किए हुए अधिकारियों के या राजनेताओं के संबंधित जानकारी को ही एकत्रित करके, आपके साथ साझा की जाती है |

रेटिंग: 4.89
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 285